Categories
Authors List
Discount
Buy More, Save More!
> Minimum 10% discount on all orders
> 15% discount if the order amount is over Rs. 8000
> 20% discount if the order amount is over Rs. 25,000
--
Aaj Ke Aine Men Rashtravad (Hindi Book)
Ravikant
Author Ravikant
Publisher Rajkamal Prakashan
ISBN 9789387462458
No. Of Pages 190
Edition 2018
Format Paperback
Language Hindi
Price रु 195.00
Discount(%) 0.00
Quantity
Discount
Buy More, Save More!
Minimum 10% discount on all orders
15% discount if the order amount is over Rs. 8000
20% discount if the order amount is over Rs. 25,000
636549615713702583.jpg 636549615713702583.jpg 636549615713702583.jpg
 

Description

आज के आईने में राष्ट्रवाद - रविकान्त
 

 

Aaj Ke Aine Men Rashtravad (Hindi Book) By Ravikant

 

 

जब सांस्कृतिक राष्ट्रवाद और थोथी देशभक्ति के जुमले उछालकर जेएनयू को बदनाम किया जा रहा था, तब वहाँ छात्रों और अध्यापकों द्वारा राष्ट्रवाद को लेकर बहस शुरू की गई। खुले में होने वाली ये बहस राष्ट्रवाद पर कक्षाओं में तब्दील होती गई, जिनमें जेएनयू के प्राध्यापकों के अलावा अनेक रचनाकारों और जन-आन्दोलनकारियों ने राष्ट्रवाद पर व्याख्यान दिए। इन व्याख्यानों में राष्ट्रवाद के स्वरूप, इतिहास और समकालीन सन्दर्भों के साथ उसके खतरे भी बताए-समझाए गए। राष्ट्रवाद कोई निश्चित भौगोलिक अवधारणा नहीं है। कोई काल्पनिक समुदाय भी नहीं। यह आपसदारी की एक भावना है, एक अनुभूति जो हमें राष्ट्र के विभिन्न समुदायों और संस्कृतियों से जोड़ती है। भारत में राष्ट्रवाद स्वाधीनता आन्दोलन के दौरान विकसित हुआ। इसके मूल में साम्राज्यवाद-विरोधी भावना थी। लेकिन इसके सामने धार्मिक राष्ट्रवाद के खतरे भी शुरू से थे। इसीलिए टैगोर समूचे विश्व में राष्ट्रवाद की आलोचना कर रहे थे तो गाँधी, अम्बेडकर और नेहरू धार्मिक राष्ट्रवाद को खारिज कर रहे थे। कहने का तात्पर्य यह कि राष्ट्रवाद सतत् विचारणीय मुद्दा है। कोई अंतिम अवधारणा नहीं।


यह किताब राष्ट्रवाद के नाम पर प्रतिष्ठित की जा रही हिंसा और नफरत के मुकाबिल एक रचनात्मक प्रतिरोध है | इसमें जेएनयू में हुए तेरह व्याख्यानों को शामिल किया गया है। साथ ही योगेन्द्र यादव द्वारा पुणे और अनिल सद्गोपाल द्वारा भोपाल में दिए गए व्याख्यान भी इसमें शामिल हैं।

Subjects

You may also like
  • Aam Admi Ke Liye Kanun
    Price: रु 150.00
  • Plato Apology: Defense Of Socrates Crito: Duty Of A Citizen
    Price: रु 75.00
  • Plato
    Price: रु 145.00
  • I Am A Troll (Hindi Edition)
    Price: रु 250.00
  • Sharad Parikrama (Nehrukalin Bharat Ka Darpan)
    Price: रु 350.00
  • Bharat Aur Uske Virodhabhas (Hindi Translation of An Uncertain Glory India And Its Contradictions)
    Price: रु 399.00
  • Gujarat Files (Hindi Edition)
    Price: रु 295.00