Categories
Authors List
Discount
Buy More, Save More!
> Minimum 10% discount on all orders
> 15% discount if the order amount is over Rs. 8000
> 20% discount if the order amount is over Rs. 25,000
--
Paramhans Yogananda
Ray Eugene Davis
Author Ray Eugene Davis
Publisher Hind Pocket Books
ISBN 9788176212342
No. Of Pages 224
Edition 2014
Format Paperback
Language Hindi
Price रु 150.00
Discount(%) 0.00
Quantity
Discount
Buy More, Save More!
Minimum 10% discount on all orders
15% discount if the order amount is over Rs. 8000
20% discount if the order amount is over Rs. 25,000
116_paramhansyoganand.Jpeg 116_paramhansyoganand.Jpeg 116_paramhansyoganand.Jpeg
 

Description

Paramhans Yogananda Jaisa Maine Unhe Jana by Roy Eugene Davis

Hindi Translation of Paramahansa Yogananda: As I Knew Him by by Roy Eugene Davis

परमहंस योगानन्द सन् 1920 में भारत से अमेरिका की यात्रा पर गए। उनका उद्देश्य जिं़दगी के तमाम रास्तों पर लोगों को सही मायनों में चलना सिखाना था, ताकि उनकी आध्यात्मिक ऊर्जा विकसित हो सके और अपने तथा ईश्वर के सच को जगाया जा सके। उन्होंने क्रिया - योग की अवधारणा पर ज़ोर दिया, जो गहरे आध्यात्मिक अभ्यास द्वारा हरेक के ध्यान को एकाकार (योग) कर सकता है और जागरूकता को अनंत बना देता है। अपने बत्तीस साल के इस आध्यात्मिक सेवा - काल में उन्होंने लोगों की बहुत भारी भीड़ को संबोधित किया, जिसमें एक सौ - हज़ार तक शिष्यों ने हिस्सा लिया। परमहंस पुस्तकें लिखने के साथ - साथ पत्रिकाओं में लेखन का कार्य भी करते रहे। उन्होंने अनेक आश्रम और मंदिर भी बनवाए।

एक संस्थान का संचालन भी किया, जिसका काम सारी दुनिया में उनकी शिक्षाओं को फैलाना है। राॅय यूजीन डेविस परमहंस योगानन्द से दीक्षा पाने वाले ऐसे शिष्य हैं, जिन्होंने उनसे आत्मीयता प्राप्त की तथा आध्यात्मिक रूपान्तरण से गुज़रे। उन्होंने ध्यान व आध्यात्मिक विकास की शिक्षा का कार्य समर्पित भाव से किया तथा कई पुस्तकें लिखीं, जो अनेक भाषाओं में छप चुकी हैं। वह ‘सेन्टर फ़ाॅर स्प्रिचुअल अवेयरनेस’ के संचालक भी हैं। ‘परमहंस योगानन्द : जैसा मैंने उन्हें जाना’ उन्हीं की अंग्रेज़ी में प्रकाशित पुस्तक का हिन्दी अनुवाद है। इसकी भाषा और शैली इतनी प्रभावी तथा रोचक है कि पाठक के अन्तर्मन में गहरे तक उतरती चली जाती है।

Subjects

You may also like
  • Divya Shakti Kundalini Dwara Swagrahayaatra
    Price: रु 135.00
  • Yogi Kathamrut (Hindi Translation Of AutoBiography Of A Yogi)
    Price: रु 175.00
  • Oh,Jivan Relax Please! [Hindi Translation Of Oh,Life Relax Please]
    Price: रु 200.00
  • Krishna Gita: Sangeet Ke Jharokhose
    Price: रु 250.00
  • Antar-Shanti Ki Awaaz  (Hindi Translation of
    Price: रु 199.00
  • Utsav Manao Safalta Aur Vifalta Ka
    Price: रु 125.00
  • Shaktiman Vartman (Hindi Translation Of
    Price: रु 275.00
  • Mann Re Relax Please!
    Price: रु 200.00
  • Unposted Letter (Hindi Translation)
    Price: रु 225.00
  • Atmavishwas Safalta Ka Dwar
    Price: रु 150.00
  • Fakir
    Price: रु 175.00
  • Adha Patan Ki Jad Varnavyavastha
    Price: रु 200.00