Categories
Authors List
Discount
Buy More, Save More!
> Minimum 10% discount on all orders
> 15% discount if the order amount is over Rs. 8000
> 20% discount if the order amount is over Rs. 25,000
--
Aap IAS Kaise Banenge (IAS Ki Pariksha Mein Safal Hone Ke Sutra)
Dr.Vijay Agarwal
Author Dr.Vijay Agarwal
Publisher Benten Books
ISBN 9789382419280
No. Of Pages 370
Edition 2014
Format Paperback
Language Hindi
Price रु 195.00
Discount(%) 0.00
Quantity
Discount
Buy More, Save More!
Minimum 10% discount on all orders
15% discount if the order amount is over Rs. 8000
20% discount if the order amount is over Rs. 25,000
635360437984107068.jpg 635360437984107068.jpg 635360437984107068.jpg
 

Description

Aap IAS Kaise Banenge (IAS Ki Pariksha Mein Safal Hone Ke Sutra) by Dr. Vijay Agrawal

--आई.ए.एस. की परीक्षा की तैयारी के बारे में आप अपनी कोई भी समस्या रखिए, यह पुस्तक आपको उसका समाधान सुझाएगी- प्रारम्भिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा तथा इन्टरव्यू से लेकर आपके मन तक की समस्याओं के समाधान।

--यह किताब आपसे सीधे-सीधे बातचीत करती है, और वह भी बहुत विस्तारपूर्वक सरलता के साथ, इस तरह कि कुछ भी अनसमझा नहीं रह जाता। परीक्षा की तैयारी संबंधी सैद्धांतिक बातों से इसका कोई लेना-देना नहीं है। यह साफतौर पर उन व्यावहारिक कामों की बात करती है, जिन्हें आप कर सकते हैं, और करके कमाल कर सकते हैं।

--सच तो यह है कि यह आई.ए.एस. की तैयारी करने वाले स्वप्नदर्शियों के लिए एक ‘चलता-फिरता कोचिंग संस्थान’ है, एक हैंडबुक है, और निःसंदेह रूप से एक तरह का ‘इनसाइक्लोपीडिया’ भी।

डॉ. विजय अग्रवाल ने सन् 1983 में “सिविल सेवा परीक्षा” में सफलता प्राप्त की । इसके बाद डॉ. विजय अग्रवाल भारत सरकार में अनेक महत्वपूर्ण व उच्च पदों पर रहे, जिसमें दस वर्षों तक भारत के तात्कालीन उपराष्ट्रपति / राष्ट्रपति डॉ. शंकर दयाल शर्मा के निजी सचिव का पद भी शामिल है । आपके पास विश्व के 20 देशों के विश्वविद्यालयों एवं वहाँ के विद्यार्थियों से मिलने का अनोखा अनुभव है । डॉ. विजय अग्रवाल देश के अनेक प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थानों के गेस्ट फैकल्टी हैं । आपने अनेक पुस्तकें लिखी हैं, जिनमें बेस्ट सेलर बुक ‘पढ़ो तो ऐसे पढ़ो’ शामिल है । ‘ज़ी जागरण’ और ‘ज़ी न्यूज़’ पर आपके प्रोग्राम ‘सदा सफल हनुमान’ तथा ‘मंथन के मोती’ अत्यंत लोकप्रिय रहे हैं ।

डॉ. अग्रवाल के मार्गदर्शन में कई विद्यार्थी “सिविल सेवा परीक्षा” उतीर्ण करके आज अनेक उच्च पदों पर कार्यरत हैं । डॉ. विजय अग्रवाल ने 2009 में ‘एडिशनल डाइरेक्टर जनरल’ के पद से स्वेच्छिक सेवा निवृति ली थी, ताकि वे अपना पूरा समय युवा पीड़ी को मार्गदर्शन देने में लगा सकें ।

Subjects

You may also like
  • Bharat Nehru Ke Baad
    Price: रु 450.00