Categories
Authors List
Discount
Buy More, Save More!
> Minimum 10% discount on all orders
> 15% discount if the order amount is over Rs. 8000
> 20% discount if the order amount is over Rs. 25,000
--
Sharad Parikrama (Nehrukalin Bharat Ka Darpan)
Sharad Joshi
Author Sharad Joshi
Publisher Rajkamal Prakashan
ISBN 9789387462564
No. Of Pages 390
Edition 2018
Format Paperback
Language Hindi
Price रु 350.00
Discount(%) 0.00
Quantity
Discount
Buy More, Save More!
Minimum 10% discount on all orders
15% discount if the order amount is over Rs. 8000
20% discount if the order amount is over Rs. 25,000
636549632956250254.jpg 636549632956250254.jpg 636549632956250254.jpg
 

Description

शरद परिक्रमा - शरद जोशी
 

 

Sharad Parikrama (Nehrukalin Bharat Ka Darpan) By Sharad Joshi

 

 

नेहरूकालीन भारत का दर्पण


शरद जोशी जिस समय लिख रहे थे, भारतीय राजनीति समाजवाद की आदर्श ऊँचाइयों और व्यावहारिक राजनीति की स्वार्थी आत्म-प्रेरणाओं के बीच कोई ऐसा रास्ता तलाशने में लगी थी जिससे वह जनता की हितैषी दिखती हुई व्यवस्था और तंत्र को अपने दलगत और व्यक्तिगत हितों के लिए बिना किसी कटघरे में आए इस्तेमाल करती रह सके। लम्बे संघर्ष के बाद प्राप्त आजादी बहैसियत एक नैतिक प्रेरणा अपनी चमक खोने लगी थी। शासन, प्रशासन और नौकरशाही लोभ और लाभ की अपनी फौरी और निजी जरूरतों के सामने वृहत्तर समाज और देश की अवहेलना करने का साहस जुटाने लगी थी। सड़कें उधड़ने लगी थीं, और लोगों के घरों के सामने महँगी कारों को खड़ा करने के लिए गलियाँ घेरी जाने लगी थीं। शरद जोशी ने भारतीय व्यक्ति के मूल सामाजिक चरित्र के विराट को परे सरकाकर आधुनिक व्यावहारिकता के बहाने अपनी निम्नतर कुंठाओं को पालने-पोसने वाले भारतीय व्यक्ति के उद्भव की आहत काफी पहले सुन ली थी। उन्होंने देख लिया था जीप पर सवार होकर खेतों में जो नई इल्लियाँ पहुँचनेवाली हैं वे सिर्फ फसलों को नहीं समूची राष्ट्र-भूमि को खोखला करनेवाली हैं।


आज जब हम राजनीतिक और सामाजिक नैतिकता की अपनी बंजर भूमि को विकास नाम के एक खोखले बाँस पर टाँगे एक भूमंडलीकृत संसार के बीचोबीच खड़े हैं, हमें इस पुस्तक में अंकित उन चेतावनियों को एक बार फिर से सुनना चाहिए जो शरद जोशी ने अपनी व्यंग्योक्तियों में व्यक्त की थीं।

Subjects

You may also like
  • Aam Admi Ke Liye Kanun
    Price: रु 150.00
  • Plato Apology: Defense Of Socrates Crito: Duty Of A Citizen
    Price: रु 75.00
  • Plato
    Price: रु 145.00
  • I Am A Troll (Hindi Edition)
    Price: रु 250.00
  • Aaj Ke Aine Men Rashtravad (Hindi Book)
    Price: रु 195.00
  • Bharat Aur Uske Virodhabhas (Hindi Translation of An Uncertain Glory India And Its Contradictions)
    Price: रु 399.00
  • Gujarat Files (Hindi Edition)
    Price: रु 295.00